Bandish Bandits – Web Series Review

1
82
Binge Worthy Show (Image Courtesy - IMDB)

Bandish Bandits – Web Series Review
वैश्विक तौर पर OTT की कमाई 83 बिलियन पहुंच गयी है, और इंडिया में भी इसकी पहुंच बढ़ रही है |
OTT के बढ़ते संसार में कलाकारों की एक पूरी नयी दुनिया आ गयी है, जिसमे की जीतेन्द्र कुमार निकल कर बड़े परदे तक पहुंचे, उन्हें लोगों ने पसंद किया, शुभ मंगल ज्यादा सावधान में,उन्हें अमेज़न प्राइम की वेब सीरीज “पंचायत” में देखा गया |

अमेज़न प्राइम और नेटफ्लिक्स में कंटेंट को लेकर हमेशा ही नए प्रयोग हुए है, जिसका की ताज़ा उदहारण है बंदिश बैंडिट्स, जिसमे अपना डिजिटल डेब्यू कर रहे है, नसीरुद्दीन शाह, और उनकी उपस्थिति पूरी सीरीज में दिखेगी , ये उनका म्यूजिक माइस्ट्रो के रूप में दूसरा अवतार होगा, इसके पहले वो हमे “सरफ़रोश” में ग़ज़ल गायक बने दिखे थे, इस बार भी वो राठौर घराने के प्रतिनिधि बने है , जो की एक संगीत घराना है, शास्त्रीय संगीत में घराना परंपरा चली आ रही है |

https://www.youtube.com/watch?v=UhU57OgGp50
A musical love tale- Bandish Bandits

सीरीज दो नए चेहरों को लेकर आयी है, जिनका की ये पहला काम है,
श्रेया चौधरी और ऋत्विक भौमिक दोनों अपने रोल्स में जमे है |
वेब सीरीज की ये अब तक की बेस्ट कास्टिंग कही जा सकती है,
जिसमे की सपोर्टिंग कास्ट भी दमदार है, अतुल कुलकर्णी, शीबा चड्ढा, राजेश तैलंग,
सभी मंझे हुए कलाकार है, और अपने रोल को बखूबी अदा कर गए है |
कुणाल रॉय कपूर की भूमिका और भाषा कहानी में कॉमेडी की कमी नहीं होने देते है, उनका किरदार “डेल्ही बेल्ली” जैसा है |

कहानी और किरदार

सीरीज की शुरुआत पंडित जी यानि की नसीरुद्दीन शाह से,
जो की अपने रियाज़ और संगीत को लेकर इतने सख्त है, की उन्होंने पद्मश्री भी लेना इसलिए ठुकरा दिया क्यूंकि उन्हें 4 दिन दिल्ली में रहना पड़ेगा |
पंडित जी के परिवार में उनका पोता (राधे) संगीत परंपरा को आगे बढ़ाने को तैयार है,
मगर एक गलती के चलते उसे एक कठिन परीक्षा से गुजरना पड़ता है,
वही दूसरी तरफ है तमन्ना जो की एक पॉप सेंसेशन है, सोशल मीडिया पे उसके लाखों करोड़ो चाहने वाले है |
तमन्ना की प्रॉब्लम है की उसका म्यूजिक कॉन्ट्रैक्ट ख़तम किया जा रहा है,
जिसके चलते वो राजस्थान पहुँचती है, और वहां उसकी मुलाक़ात राधे से होती है, मगर यहाँ सब कुछ उतना स्मूथ नहीं है, जितना दिख रहा है |

कहानी में ट्विस्ट है, फ्लैशबैक है, और हर किरदार की अपनी समस्या है, जो की कहानी को वास्तविक बनाये रखती है,
बंदिश बैंडिट्स की सबसे अच्छी बात उसकी कहानी है,
जो की नयी न होते हुए भी ट्रीटमेंट में नयापन लिए है,
राजस्थान की खूबसूरत लोकेशंस को सिनेमेटोग्राफर ने अच्छे से अपने कैमरा में क़ैद किया है,
सीरीज आपको राजश्री प्रोडक्शंस की फिल्मों की झलक भी देगी, परिवार, संस्कार, सब बंदिश बैंडिट्स में है |

संगीत की बात करे तो शंकर एहसान लोय ने इस सीरीज से अपना डिजिटल डेब्यू किया है,
और “छेड़ खानिया” जैसे कुछ पॉपुलर गाने भी लेकर आये है,
वही संगीत में बंदिशों का तो होना बनता ही है, वो भी अच्छी बन पड़ी है,
Music का लाइव कॉन्सर्ट भी किया गया था, रिलीज़ से पहले, सभी गाने आपको सुनने को मिल जायेंगे |

रीमेक के दौर में फ्रेश म्यूजिक सुनने मिल जाये ये बड़ी बात है, और इस काम को बखूबी किया है शंकर एहसान लोय ने,
क्लासिकल म्यूजिक के साथ ही कंटेम्पररी दोनों की अच्छी जुगलबंदी देखने को मिलेगी |
बंदिश बैंडिट्स एक बिंज वाच है, और क्राइम बेस्ड सीरीज से ऊब गए लोगों के लिए मस्ट वाच है |

सीजन 2 बनेगा इसका या नहीं ये अभी कन्फर्म नहीं किया गया है |

OTT कोरोना में फिल्मों के लिए भी फायदे का सौदा बन रहा है,
हॉटस्टार सात फिल्मों के साथ करार कर चुका है, जिसमे की सभी बड़े सितारों की फिल्में है,
वही नेटफ्लिक्स और अमेज़न भी फिल्म खरीद चुका है,
जो की सिनेमा घर बंद होने के चलते नहीं रिलीज़ हो पायी है,
मनोरंजन तलाश करते दर्शको के लिए OTT एक वरदान जैसा है, वही सिनेमा मालिक इससे अलग राय रखते है |

सिनेमा का नया अड्डा -OTT

Analyst: OTT revenues hit $83bn

जुड़े रहे Heyuno के साथ
हमे बताये कैसा लगा Bandish Bandits – Web Series Review, like, comment, और share जरूर करे, डिजिटल वर्ल्ड में ये तीनो फ्री है |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here