गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर का 63 वर्ष की उम्र में निधन, कल 11 बजे केंद्रीय कैबिनेट देगी श्रद्धांजलि

0

– पर्रिकर बीते काफी वक्त से चिकित्सीय उपकरणों के साथ नजर आते थे.

– राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर दी जानकारी

– पैंक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे थे मनोहर पर्रिकर

– गोवा के डिप्टी स्पीकर माइकल लोबो ने शनिवार को कहा था- हम उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं, लेकिन बचने की उम्मीद कम

पणजी : गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर (63 वर्ष) का रविवार शाम को निधन हो गया. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनके निधन की जानकारी देते हुए ट्वीट किया. सोमवार 11 बजे केंद्रीय कैबिनेट उन्हें श्रद्धांजलि देगी.Extremely sorry to hear of the passing of Shri Manohar Parrikar, Chief Minister of Goa, after an illness borne with fortitude and dignity. An epitome of integrity and dedication in public life, his service to the people of Goa and of India will not be forgotten #PresidentKovind— President of India (@rashtrapatibhvn) March 17, 2019

इससे पहले मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया था कि पर्रिकर की हालत बेहद खराब है. डॉक्टर उन्हें बचाने की कोशिश में जुटे हैं. पर्रिकर पैंक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे थे. पिछले साल से उनका गोवा, मुंबई, अमेरिका और दिल्ली एम्स में इलाज चल रहा था. Condolence meet to be held in the Union Cabinet at 11 am tomorrow for Goa Chief Minister Manohar Parrikar https://t.co/q3CwGXdRIc— ANI (@ANI) March 17, 2019

बचने की उम्मीद बहुत कम : डिप्टी स्पीकर
पर्रिकर के स्वास्थ्य को लेकर शनिवार को गोवा प्रदेश अध्यक्ष विनय तेंदुलकर की अध्यक्षता में भाजपा विधायकों और पार्टी की कोर कमेटी की बैठक हुई. डिप्टी स्पीकर माइकल लोबो ने कहा कि बैठक में किसी ने भी लीडरशिप में बदलाव की मांग नहीं की. हम पर्रिकर के जल्द स्वस्थ होने की कामना कर रहे हैं, लेकिन उनके बचने की उम्मीद बेहद कम है, क्योंकि वे बेहद बीमार चल रहे हैं. अगर कुछ होता है तो लीडरशिप में जो भी बदलाव होगा, वह भाजपा से होगा.

 ‘डॉक्टरों को रिकवरी नहीं नजर आ रही’ 
लोबो ने यह भी बताया था कि पर्रिकर शुक्रवार रात बेहद बीमार हो गए थे, ऐसे में भाजपा ने इमरजेंसी मीटिंग बुलाई थी. डॉक्टरों को पर्रिकर की हालत में कोई सुधार नजर नहीं आ रहा है और वे रिकवरी नहीं कर पा रहे. तीन विधानसभाओं में होने वाले उप-चुनाव नजदीक हैं और इनके लिए उम्मीदवारों का चयन भी किया जाना था.

1 साल से चिकित्सीय उपकरणों के साथ ही दिखाई देते थे
मुख्यमंत्री पर्रिकर ने इस बार के बजट सत्र में हिस्सा लिया और 30 जनवरी को बजट पेश किया था. इसके अगले दिन वे इलाज के लिए दिल्ली एम्स चले गए और 5 फरवरी को गोवा लौट आए थे. पर्रिकर को पिछले कुछ समय में जब भी देखा गया, वह चिकित्सीय उपकरणों से लैस दिखाई दिए. नासोगेस्ट्रिक ट्यूब उनके चेहरे पर लगी हुई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here