अमेज़न की आग में सब राख

0
lungs of earth- forest

अमेज़न की आग में सब राख: जंगल धरती के फेफड़े है, ये बात इसलिए कही जाती है, क्यूंकि सांस लेना पेड़ ही आसान बनाते है |
धरती के फेफड़े कहे जाने वाले अमेज़न के जंगल में आग पिछले 16 दिनों से जल रही है |

#PrayforAmazonas हैशटैग इस समय सबसे ज्यादा ट्रेंडिंग बना हुआ है, इस हैशटैग पर ढाई लाख से ज्यादा ट्वीट्स किये गए है |
अमेज़न के जंगल में आग लगने की घटना में 83 फीसदी इज़ाफ़ा भी देखा गया है |

जंगल में लगी आग, पिछले 15 दिनों से धधक रही है |
परिणामस्वरूप कई इलाको में अँधेरा छा गया है |अमेज़न की आग से 2700 किलोमीटर का क्षेत्र प्रभावित है |
अमेज़न का 47 हजार वर्ग किलोमीटर जल के राख हो गया है |
भारत के 110 राष्ट्रीय पार्को का क्षेत्र फल 41 हज़ार वर्ग किलोमीटर में है |

लोग ब्राज़ील सरकार को इसका ज़िम्मेदर बता रहे है, ऐसा बताया जा रहा है की आग अगस्त के पहले हफ्ते से लगी हुई है |
सरकार या मीडिया ने किसी भी स्तर पर ध्यान देना जरुरी नहीं समझा, जो की अब भयावह रूप ले रहा है |
जानवरों की घायल तस्वीरें भी बाहर आयी है |

अमेज़न क्यों महत्वपूर्ण है

55 लाख वर्ग किमी क्षेत्रफल, के साथ दुनिया का 20 प्रतिशत ऑक्सीजन अमेज़न के जंगल हमे देते है |
39 हजार करोड़ पेड़ वाला ये इलाका,
जिसे धरती का फेफड़ा कहा जाता है, वो जल रहा है |
25 लाख कीड़े, 16 हज़ार से अधिक पेड़ो की प्रजातियां
अमेज़न के जंगल में पायी जाती है |
नए पौधे और जीवों की भी खोज हुई है अमेज़न के जंगल में, जिनकी संख्या 2200 है |
11 हज़ार सालो से 410 आदिवासी जाति अमेज़न के जंगलो में रह रही है, जिसमे की आधी आबादी का बाहरी दुनिया से कभी संपर्क नहीं रहा है |
2018 में 17 प्रतिशत अमेज़न जंगल नष्ट हो गया है |
2005 में अमेज़न ने 100 साल के सबसे बड़े सूखे को देखा |

ये खतरे की घंटी है हमारी धरती के लिए, औद्योगीकरण के चलते पेड़ो को जिस अनुपात में काटा जा रहा है, उसके दुष्परिणाम बहुत भयावह हो सकते है |
हमे अब सजग होकर इस दिशा में ध्यान देना होगा |
ग्लोबल वार्मिंग जिस तरह बढ़ रही है, वो धरती के लिए सही नहीं है |

आयुर्वेद और स्वास्थ

एक सराहनीय प्रयास भारत में किया गया पेड़ लगाने की दिशा में,
जिसमे की 22 करोड़ पेड़ उत्तर प्रदेश में लगाए गए |
इस वृक्षारोपण कार्यक्रम को Guiness Book of World Record में भी जगह दी गयी है |
हमारी जिम्मेदारी अब ये होनी चाहिए की हम इन पेड़ो का ख्याल रखे, और अपने आस-पास हरियाली बढ़ाये |
प्रयास सामूहिक होने पर सफल अवश्य होते है, अमेज़न के लिए प्रार्थना करे,
मगर अपने आस पास के पेड़ो का भी उतना ही ध्यान रखे |

Important Facts about Indian Forest

“अमेज़न की आग में सब राख” ना हो इसकी हम आशा करते है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here