अपनी सरकार के 2 वर्ष पूरे होने पर योगी के बोल- प्रदेश में सुरक्षा और निवेश का बेहतर वातावरण देने में सफल

0

पत्रकार वार्ता करते मुख्यमंत्री

– योगी ने कहा- सपा और बसपा के शासनकाल के दौरान फैली थी अराजकता

– किसानों के लिए सरकार ने उठाए कई बेहतर कदम

अपनी सरकार के 2 वर्ष पूरे होने पर योगी के बोल- प्रदेश में सुरक्षा और निवेश का बेहतर वातावरण देने में सफल: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को सरकार के 2 वर्ष पूरे होने पर अपना रिपोर्ट कार्ड जनता के सामने प्रस्तुत किया. इस दौरान योगी ने कहा कि पिछले 15 वर्षों से यूपी में चले रहे आ रहे अराजकता के वातावरण को दूर करते हुए सरकार सुरक्षा और निवेश का बेहतर माहौल बनाने में कामयाब हुई है. योगी ने कैराना के पलायन का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि सपा सरकार में कैराना के जिन घरों में घरों के बाहर “मकान बिकाऊ है” पोस्टर लगाकर लोग पलायन कर गए थे, वे सभी परिवार भाजपा सरकार आते ही वापस आ गए.

जीरो टॉलरेंस पर कानूनव्यवस्था, सुरक्षा का बेहतर माहौल
लखनऊ में मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए योगी ने यह बातें कही. योगी ने कहा- सरकार ने किसानों और नौजवानों के हित में जितने कदम उठाए हैं उतने आजादी के बाद किसी सरकार ने नहीं उठाए. उन्होंने कहा कि दो वर्ष पहले जब हमारी सरकार बनी थी तब पुलिस का मनोबल टूटा हुआ था. हमने जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम किया और पुलिस को पूरी आजादी दी. पुलिस के काम में किसी तरह का राजनीतिक हस्तक्षेप नहीं हुआ और इसका परिणाम भी सामने आया. पुलिस पूरे प्रदेश में सुरक्षा का एक बेहतर माहौल देने में कामयाब रही.

2 वर्षों में एक भी दंगा न होने का दावा
योगी ने कहा कि पिछले दो वर्षों में प्रदेश में अपहरण की एक भी घटना नहीं घटी और न ही एक भी जगह कोई दंगा हुआ. आपराधिक घटनाओं के कारण जिन इलाकों में पलायन हो रहा था वहां लोग दोबारा अपने घरों में आ रहे हैं. प्रदेश के अंदर सुरक्षा का एक बेहतर माहौल दिया. कानून व्यवस्था एक नजीर बनी है. निवेश का एक बेहतर माहौल बना है. पांच लाख करोड़ रुपए के निवेश का प्रस्ताव सरकार को प्राप्त हुए हैं. पांच लाख से अधिक नौजवानों को रोजगार का माहौल दिया गया है. उप्र की गौरवशाली परम्परा को देखते हुए उप्र का स्थापना दिवस पहली बार मनाया गया है.

सर्वाधिक रोजगार के अवसर प्रदान किए
मुख्यमंत्री ने कहा सरकार ने वन डिस्टिक वन प्रोडक्ट का अभियान चलाया गया. इसका लाभ हर जिले के उत्पादों को मिला है. प्रदेश के अंदर छह लाख से अधिक सूक्ष्म एवं मध्यम उद्योग को प्रेरित करने का काम किया गया है. इस दौरान 17 हजार करोड़ रुपए का मुद्रा लोन वितरित किया गया है. प्रदेश के साठ हजार ग्राम पंचायतों में परम्परागत पेशे से जुड़े हुए कारीगर और हस्तशिल्प जैसे मोची, नाई, धोबी, बढ़ई और कुम्हारों को प्रोत्साहित करने के लिए विश्वकर्मा श्रम सम्मान की शुरूआत की गई है.

कर्जमाफी कर वचन निभाया
योगी ने कहा कि इनको इस योजना के तहत प्रशिक्षण दिया गया ताकि वे अपना रोजगार शुरू कर सकें. प्रशिक्षण के दौरान पंद्रह हजार लोग अलग-अलग हस्तशिलपियों को प्रोत्साहित किया गया है. उन्हें शासन की हर योजना के साथ जोड़ने में सफलता प्राप्त हुई है. प्रदेश के अंदर सरकार बनने के बाद लोक कल्याण संकल्प पत्र में किसानों एवं नौजवानों के लिए जो योजनाएं घोषित की है. किसानों के कर्जमाफी को सफलता से सम्पन्न किया है.

सरकार फिजूलखर्चीके सख्त खिलाफ़
मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले पंद्रह वर्षों से सपा बसपा के अराजकता की वजह से किसानों को समय पर खाद ओर बीज नहीं मिल पा रहा था. सरकार ने बिना किसी तरह का टैक्स लगाए प्रदेश की फिलूलखर्ची पर रोक लगाकर प्रदेश के अंदर किसानों की इस योजना को सफलता से लागू किया. औसतन साठ हजार रुपए प्रति किसान कर्ज माफ किया है. सरकार के आने से पहले बिचौलिए हावी थे. सरकार सीधे किसानों से कोई फसल नहीं खरीद पाती थी. सरकार ने किसानों से सीधे क्रय करने का काम किया. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here