बल्ब का अविष्कार किसने किया

0
Edison's famous horseshoe paper-filament lamp of 1870
Edison's famous horseshoe paper-filament lamp of 1870

बल्ब का अविष्कार किसने किया,थॉमस अल्वा एडिसन वो पहले व्यक्ति नहीं थे, इस आर्टिकल में आपको पता चल जायेगा कौन थे वो व्यक्ति, बल्ब का अविष्कार किसने किया, साथ ही सभी दिलचस्प जानकारियां

रौशनी हमे सूर्य के अलावा और कही से अगर प्राप्त हुई तो वो है बल्ब जिस पर की खोज शुरू हुई थी, 1761 वो साल था जब इस दिशा में पहला प्रयास किया गया था और इसे साकार करने में  जिसे पहले सफलता मिली वो व्यक्ति थे ‘थॉमस अल्वा एडिसन’ उनके प्रयासों के चलते हमे लम्बे समय तक चलने वाला बल्ब प्राप्त हुआ|

चलिए अब आपको इस दिशा में हुए प्रयासों के विषय में भी थोड़ी जानकारी देते चले

किसने बनाया बल्ब सबसे पहले

इस दिशा में जो पहला प्रयास किया गया था वो  Ebenezer Kinnersley नाम के व्यक्ति द्वारा किया गया था, इन्होने बिजली बनाने की दिशा में पहले प्रयास शुरू किया इसके बाद जिनका नाम आता है इस दिशा में प्रयास करने को लेकर उनका नाम है Humphry Davy और James Bowman लिंडसे, Marcellin Jobard , Warren de la Rue ये सब ऐसे नाम है जिन्होंने इस ओर प्रयास किये परन्तु इनके प्रयास  उतने सफल नहीं माने जा सकते जितने की एडिसन के रहे, परन्तु इनके प्रयासों के चलते इस दिशा में काम होते रहे जो की ज्यादा आवश्यक थे |

बल्ब की दिशा में अगला प्रयास जो किया गया वो था कार्बन फिलामेंट ओर वैक्यूम की दिशा में ओर ये प्रयास था जोसफ स्वान के द्वारा, जो की एक ब्रिटिश फिजिसिस्ट थे,1850 में उन्होंने carbonised पेपर फिलामेंट जो की एक evacuated glass बल्ब को बनाया, मगर वैक्यूम की कमी ओर बिजली की अच्छी सप्लाई ना होने के कारण ये प्रयोग उतना सफल नहीं हुआ जितना होना चाहिए था, मगर 1870 मध्य में अच्छे पम्पस मिलने लगे थे, ओर स्वान वापस लौटे अपने एक्सपेरिमेंट्स की तरफ, इस दिशा में उन्हें मदद मिली Charles Stearn की जो की वैक्यूम पम्पस के जानकर थे, ओर उनकी सहायता से बल्ब के काले होने की दिशा में स्वान को सफलता मिली, ओर इसे पेटेंट भी करवाया गया, स्वान ही वो पहले  व्यक्ति थे जिनके घर में बल्ब द्वारा  रौशनी पहुंची ओर hydroelectricity भी सबसे पहले उनके घर पहुंची, ओर इस प्रकार से बिजली ओर बल्ब दोनों दुनिया में सबसे पहले उनके घर में ही थे |

दुनिया का पहला घर जहां बल्ब से रौशनी हुयी

ट्रेन का आविष्कार किसने और कब किया

कहाँ जला पहला बल्ब

1881 में सेवॉय थिएटर ऐसी पहली ईमारत बानी जो पूरी तरह से बिजली से ओर बल्ब से जगमगा रही थी ओर ये बल्ब स्वान की कंपनी के द्वारा बने थे, साथ ही वो पहली सड़क जिस पर बल्ब जला वो भी लंदन में ही है जिसका की नाम है ‘मोस्ले स्ट्रीट’ ओर ये 3 फरवरी 1879 में मुमकिन हुआ |

इसके बाद एडिसन ने बल्ब को सर्व सुलभ बनाने की दिशा में प्रयास शुरू करे जो प्रयोगात्मक रूप से सफल हो, ओर अपना पेटेंट फाइल किया ‘इम्प्रूवमेंट इन इलेक्ट्रिक लाइट्स’ के नाम से 14 अक्टूबर 1878 को, बहुत सरे प्रयोगो के बाद एडिसन ने कार्बन फिलामेंट को सही माना, ओर पहला टेस्ट 22 अक्टूबर 1879 को किया जो की 13.5 घंटे चला, एडिसन ने कोशिश जारी रखते हुए अपना अगला पेटेंट 4 नवंबर 1879 को फाइल किया | 1880 में  Oregon Railroad and Navigation कंपनी के स्टीमर कोलंबिया को एडिसन के incandescent इलेक्ट्रिक लैंप से जगमगाया गया |

आगे चल के एडिसन ने स्वान नाम की कंपनी से जुड़ के अपनी कंपनी बनायीं ओर उसका नाम रखा ‘Ediswan’ जो की बाद में ‘थोर्न लाइटिंग कंपनी’ बनी|

इस दिशा में बड़ा बदलाव तब आया जब टंगस्टन से बना हुआ फिलामेंट लैंप आया जिसे की Hungarian Sándor Just और Croatian Franjo हनमन लाये और इसके साथ ही वैक्यूम की जगह ले ली ऐसी गैस ने जो की रिएक्शन नहीं करती है या जिन्हे हम नोबल गैस कहते है. अब तो आप जान ही गए होंगे की, बल्ब का अविष्कार किसने किया, और कब किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here